रिलेशनशिप क्या हैं यह कितने प्रकार के होते हैं

रिलेशनशिप क्या हैं, क्या प्यार ही रिलेशनशिप है दोस्तों अपने कई बार कहा होगा या सुना होगा की बो रिलेशनशिप में है या में रिलेशनशिप में हु पर आपको पता है कि रिलेशनशिप यानि की सम्बन्ध क्या होता हैं और यह कितने प्रकार के होते है अगर नहीं तो आज हम इन सबके बारे में बात करने बाले है तो अगर आप भी इन सब को जानना चाहते है तो इस आर्टिकल को पूरा जरूर पड़े।

रिलेशनशिप क्या हैं

रिलेशनशिप क्या हैं क्या इसे ही प्यार कहते है? ये समझने से पहले हमे ये समझना होगा रिलेशन क्या है यानि कि सम्बन्ध क्या हैं तो चलिए समझते है रिलेशन का मतलब है हमारे सगे सम्बन्धी जिन्हे हम जानते हैं यह कोई भी हो सकता हैं तुमहारा दोस्त, पड़ोसी, भाई माँ ,गर्लफ्रेंड यहाँ तक कि तुम्हारा दुश्मन भी हो सकता है भले ही आप उसे बिल्कुल पसंद ना करें हां बस यह कह सकते हैं कि आपका और आपके दुश्मन का अच्छा संबंध नहीं है पर संबंध तो है। अब हम बात करते हैं रिलेशनशिप कि यह भी सम्बन्ध होता हैं पर इसे हम लव के सन्दर्भ में लेते हैं वैसे तो लव यानि की रिलेशनशिप कई प्रकार का होता है लेकिन इनमें से कुछ ज्यादातर यूज होने वाले रिलेशनशिप के बारे में हम बात करने वाले हैं।



1 एकांगी संबंध (Monogamous Relationships)

एकांगी सम्बन्ध यानि की एक समय में केवल एक ही यौन / रोमांटिक साथी होना। और उसी से शादी करना अधिकांश लोग जो “पारंपरिक” रिश्तों और विवाह में प्रवेश करते हैं, एकांगी रिश्तों के बारे में सबसे पहले लोगों को पता चलता है कि वे सबसे पारंपरिक हैं, और इंडिया जैसे देशो में मनॉगमस यानि की एक ही सम्बन्ध रखना और उसी से शादी करना प्रचलन में हैं आमतौर पर बच्चों को समझने में सबसे आसान है, जो अक्सर अपने माता-पिता द्वारा प्रदर्शित होते हैं।

2. बहुपत्नी संबंध (Polyamorous Relationships)

बहुपत्नी संबंध का मतलब है कि उनके पास एक समय में एक से अधिक रोमांटिक संबंध हैं।अक्सर, बहुपत्नी जोड़े के पास एक प्राथमिक साथी, एक माध्यमिक साथी होता है, जो इस समझ के साथ कि ये “रैंकिंग” उनकी व्यक्तिगत जरूरतों के रूप में बदल सकती है। हलाकि यह अब उतना प्रचलित नही हैं जितना की एकांकी ( मनॉगमस ) सम्बन्ध।
किसी भी सफल रिश्ते की कुंजी हैं सभी दलों के बीच ईमानदार और प्रभावी संचार। यही कारण है कि कुछ इसके बजाय एकांकी सम्बन्ध रखना ज्यादा पसन्द करते हैं बजाय बहुपत्नी संबंध के और यह कई देशो में लीगल भी नहीं है जैसे अगर बात इंडिया की करे तो इंडिया में हिन्दु एक से ज्यादा शादी नहीं कर सकते हैं।

3 खुला संबंध (Open Relationships)

ओपन रिलेशनशिप यानी कि खुला संबंध इस रिलेशनशिप में व्यक्ति के एक या एक से अधिक यौन साथी हो सकते हैं। लेकिन बात शादी की बात करे तो एक ( मनॉगमस ) या दो (पोलियामोरोउस) ही होती हैं पर सम्बन्ध कई हो सकते हैं।

4 कैजुअल सेक्स संबंध (Casual Sex Relationships)

एक आकस्मिक यौन संबंध में, दोनों साथी नियमित रूप से एक-दूसरे के साथ यौन संबंध बनाने के लिए सहमत होते हैं ।आकस्मिक यौन संबंधों में शारीरिक या भावनात्मक रूप से एक दूसरे के साथ घनिष्ठ भी हो सकते हैं, इसलिए जब तक दोनों लोग इसके साथ ठीक नहीं होते कोई भी व्यक्ति किसी और के साथ आकस्मिक यौन संबंध नहीं बनाता हैं।

5 फ्रेंड्स विथ बेनिफिट संबंध ( Friends With Benefits’ Relationships)

फ्रेंड्स विथ बेनिफिट संबंध यानि कि एक आकस्मिक यौन संबंध, इसमें दो दोस्त आपसी यौन आकर्षण कार्य करने के लिए सहमत होते हैं। यौन संबंध के बाहर, साथी पूरी तरह से व्यावहारिक रूप से व्यवहार करते हैं। यानि की आपस में सम्बन्ध तो होता हैं पर केबल मजे के लिए इसके इलाबा और कुछ नहीं आमतौर पर ये सम्बन्ध तब समाप्त होते हैं जब एक या दोनों साथी किसी और को डेट करना शुरू करते हैं।

में आशा करता हु कि आप रिलेशनशिप क्या हैं और यह कितने प्रकार के होते हैं समझ चुके होंगे अगर आपके मन में कोई सुझाव या प्रशन हैं तो आप कमेंट बॉक्स में पूँछ सकते हैं।




Also Read: लड़कियों से जुड़े 13 रोचक तथ्य
Source : articles.aplus.com

One thought on “रिलेशनशिप क्या हैं यह कितने प्रकार के होते हैं”

Leave a Reply